रक्षाबंधन के मौके पर एक बहन के द्वारा भाई को पत्र लिखिए।

C -182,
रौनक नगर,
चांदनी चौक मार्केट,
दिल्ली।

दिनांक…..

प्रिय भैया,
सादर नमन।

आशा करती हूं कि आप सकुशल होंगे। मैं और परिवार के अन्य सदस्य भी यहां कुशलता से हैं। हम सभी आपको बहुत याद करते हैं। लेकिन आपकी व्यस्तता के कारण अधिक परेशान नहीं करते हैं। मैंने अधिक दिन के बाद आपको पत्र लिखा है। इसलिए आपके लिए माता – पिता जी के कुछ संदेश भी हैं। पिता जी जानना चाहते है, कि आपको वहां किसी प्रकार की परेशानी तो नहीं है। तथा माता जी का प्रश्न है आपके लिए कि आपकी नौकरी कैसी चली रही है? और भैया मेरा यह प्रश्न है आपके लिए की आप अब कब घर आएंगे? मैं आपके साथ लंबे समय से कहीं घूमने भी नहीं जा पाई हूं। अब जब आप आएंगे तो हम दोनों मिलकर चिड़ियाघर देखने चलेंगे।

आप जानते है कि अगले हफ्ते रक्षाबंधन का त्योहार है। यह दिन मेरे लिए और आपके लिए अत्यंत विशेष है। मैं चाहती हूं कि हर साल की तरह इस बार भी आप घर आकर रक्षाबंधन का त्योहार सबके साथ मिलकर मनाएं। मैंने आपके लिए पहले से ही बेहद खूबसूरत राखी बना कर रख ली है। जिसकी प्रशंसा सभी लोगों ने की है। मुझे उम्मीद है कि आपको भी मेरे हाथ से बनाई गई राखी खूब पसंद आएंगी। और मुझे उत्सुकता इस बात की भी है कि आप अपनी बहन को हर रक्षाबंधन के दिन एक अच्छा तथा उपयोगी उपहार भेंट करते हैं। फिर इस रक्षाबंधन आप मेरे लिए क्या उपहार भेंट करेंगे? आपको यह भी बता दूं माता जी ने आपके लिए आपके मनपसंद बेसन के लड्डू भी बनाकर रख लिए हैं। अब इन लड्डुओं का स्वाद आपको यहां आकर ही लेना होगा।

मुझे विश्वास है कि आप शीघ्र ही अपने ऑफिस से छुट्टी लेकर घर आओगे। फिर हम सब मिलकर पिक्चर देखने भी चलेंगे। मैं और माता – पिता जी आपकी प्रतीक्षा में हैं। माता जी की ओर से बहुत सारा प्यार तथा पिता जी की ओर से ढेर सारा आशीर्वाद।

आपकी प्रिय बहन,
सुजला,
गुजरात।

5/5 - (1 vote)
अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment