परीक्षा में प्रथम आने पर मित्र को बधाई देते हुए पत्र।

C-123,
राजेन्द्र नगर,
बरेली।

दिनांक….

प्रिय मित्र,
संजीव।

गत दिन ही मुझे ज्ञात हुआ कि तुमने अपनी परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इस सफलता प्राप्ति के लिए तुम्हें बहुत बधाई। मुझे विश्वास था कि तुम अपनी मेहनत व लगन से इस वर्ष अपनी परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करोगे। तुम्हारी इस सफलता के लिए मैं अत्यंत प्रसन्न हूं।


मित्र संजीव, मुझे स्मरण है कि तुमने मुझे बताया था कि पिछली कक्षा में तुम अच्छे अंक नहीं प्राप्त कर पाए थे। जिस कारण तुम अत्यंत निराश हो गए थे। परन्तु मैंने तुम्हें विश्वास दिलाया था कि तुम्हारी अगली परीक्षाओं के लिए अभी समय है और तुम उन परीक्षाओं में मेहनत करके अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हो। अंततः तुमने इस बात पर ध्यान दिया व आज तुम अपने विद्यालय के मेधावी छात्रों में चयनित हो चुके हो।


मित्र, जब कोई व्यक्ति अपनी मेहनत व लगन के साथ धैर्य रखने में भी सक्षम हो जाता है। तब वह अपनी सफलता को प्राप्त कर लेता है। उसी प्रकार तुमने भी अपनी पूर्व की गलतियों से सीखकर अपने आगे के उद्देश्य पर ध्यान केंद्रित किया। जिसके फलस्वरूप आज सभी लोग तुम्हारी प्रशंसा कर रहे हैं। विद्यालय के समस्त शिक्षक-शिक्षिकाएं, समस्त विद्यार्थी तथा साथ ही तुम्हारे सभी मित्र तुम्हारी इस सफलता से प्रसन्न है।


इस वर्ष अपनी परीक्षाओं में सर्वोत्तम अंको को प्राप्त करके तुमने अपने माता-पिता का भी सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। निश्चय ही वे भी इस खबर पर अत्यंत भावुक हो गए होंगे। मैं आशा करता हूं कि तुम इसी प्रकार हर वर्ष, हर परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करो। तथा अपने लक्ष्य को हासिल करने की राह को सफलतापूर्वक पार करो।


मेरी शुभकामनाएं सदैव तुम्हारे साथ हैं।

तुम्हारा शुभचिंतक मित्र,
विकल्प मेहता,
मेरठ।
दिनांक….

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment