बस कंडक्टर के अभ्रद व्यवहार की शिकायत करते हुए परिवहन विभाग के अध्यक्ष को पत्र लिखिए।

सेवा में,
मुख्य अभियंता,
परिवहन विभाग,
लखनऊ उत्तर प्रदेश।

विषय- बस कंडक्टर के अभद्र व्यवहार की शिकायत हेतु।

महोदय,
मैं शिवम मिश्रा लखनऊ के गोमती नगर का निवासी हूं। मैं अपने व्यवसाय हेतु प्रतिदिन बाईपास रोड से बस पकड़ता हूं जोकि मुझे सैटेलाइट रोड तक छोड़ती है। प्रतिदिन इस बस में सफर करने के चलते एक दिन मैंने ध्यान दिया कि इस बस का कंडक्टर अत्यंत दुष्ट स्वभाव का व्यक्ति है। जोकि बस में यात्रा करने वाले प्रत्येक यात्री के साथ अभद्र व्यवहार करता है। वह हर दिन बस में चढ़ने वाले व्यक्ति को बस का टिकट निर्धारित रुपए से अधिक रुपए लगाकर देता है। साथ ही इसका विरोध करने वाले यात्रियों को बस का कंडक्टर गालियां देता है तथा अभद्र भाषा का प्रयोग कर लज्जित करना शुरू कर देता है।

मान्यवर, मैं आपका ध्यान गत दिन पूर्व हुई घटना की ओर आकर्षित करना चाहूंगा। गत दिन पूर्व मैं मेरे मित्र के साथ उस बस में बैठा। कुछ समय के पश्चात् एक महिला यात्री बस में चढ़ी। बस कंडक्टर ने उस महिला से रुपए ले लिए किन्तु उसे बस का टिकट नहीं प्रदान किया। पूरे रास्ते, मैंने देखा कि वह महिलाओं के साथ भी अशिष्ट व्यवहार करता रहा। मेरे अलावा बस के अन्य यात्री भी कंडक्टर के इस व्यवहार से अत्यंत परेशान है। बस कंडक्टर सुभाष चन्द्र के अभद्र व्यवहार के कारण कई बार शिकायती पत्र दिया जा चुका है। परंतु परिवहन विभाग द्वारा अब तक उसके खिलाफ किसी प्रकार का कठोर निर्णय नहीं लिया गया।

अतः मेरा आपसे विनम्र अनुरोध है कि आप मेरे इस शिकायती पत्र पर बस कंडक्टर के खिलाफ उचित कार्यवाही करने का निर्णय लें। साथ ही कंडक्टर के अभद्र व्यवहार के लिए उसे निलंबित किया जाए या उसको यात्रियों के प्रति उचित व शिष्ट व्यवहार करने की हिदायत दी जाएं।


सधन्यवाद।

भवदीय,
शिवम मिश्रा,
लखनऊ, उत्तर प्रदेश।
दिनांक….

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment