होम क्वारंटाइन के लिए पत्र कैसे लिखें?

ब्लॉक नंबर वन
इंद्रा गांधी नगर,
बरेली।

दिनांक……

प्रिय मित्र रोशन,
नमस्ते।

आशा करता हूं कि तुम सकुशल होंगे। गत सप्ताह तुमने मुझे पत्र भेजा जिसमें तुमने मेरे कुशलता की कामना की थी। मैं तुम्हें इस पत्र के माध्यम से बताना चाहूंगा कि पिछले कुछ दिन से मुझे अत्यंत तेज ज्वर आ रहा था। साथ ही खांसी, जुखाम भी शीघ्रता से बढ़ता जा रहा था। इन लक्षणों को देखते हुए मैंने अपने घर के निकट स्वास्थ्य परीक्षण केंद्र में जाकर कोरोना की जांच कराई। जो कि पॉजिटिव पाई गई है। चूंकि कोरोना महामारी का संक्रमण कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर तेजी से अन्य लोगों में फैलता है। इसलिए मुझें ज्ञात था कि मुझे क्वारंटाइन होने की आवश्यकता है। अतः मैंने अपने घर पर ही सुरक्षित रूप से होम क्वारंटाइन रहने का निर्णय ले लिया है।
मेरा घर काफी बड़ा है। जिसमें कई कमरें है। उनमें से एक हवादार कमरा है, जो कि अन्य कमरों से लगभग एक मीटर की दूरी पर स्थित है। 14 दिन तक मैं स्वयं को उस कमरे में क्वारंटाइन रखूंगा। इस प्रकार मेरे परिवार के समस्त सदस्य भी सुरक्षित रूप से रह सकेंगे। मैं घर में रहकर क्वारंटाइन के नियमों का सख्ती से पालन कर रहा हूं। मैं अपने घर के समस्त बच्चों व बुजुर्गो से उचित दूरी बनाए रखता हूं। साथ ही अपने परिवार से संबंधित किसी भी शादी समारोह में अथवा पार्टी में शामिल नहीं हो रहा हूं। मैं लगातार 5-6 घंटो के अंतराल पर अपना मास्क बदलता हूं। साथ ही सैनिटाइजर का उचित प्रयोग समयानुसार कर रहा हूं। मेरे कमरे के फर्श के साथ साथ प्रत्येक वस्तु को सोडियम हाईपोक्लोराइड सॉल्यूशन से साफ किया जाता है।
यदि तुम्हें भी इस बीमारी से संबंधित लक्षण का संदेह हो। तो स्वयं को होम क्वारंटाइन करने में अधिक समय ना लगाना। यह तुम्हारे जीवन की सुरक्षा के साथ साथ सैकड़ों लोगों के जीवन को भी प्रभावित करता है। कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव आने तक क्वारांटिन की व्यवस्था में ही रहना होता है। आज मेरा होम क्वारंटाइन का 11 वां दिन है। मैं जल्दी ही स्वस्थ होकर तुमसे भेंट करूंगा।
आशा करता हूं कि यह संक्रमण का प्रकोप भी देश से शीघ्र समाप्त हो जायेगा।

तुम्हारा प्रिय मित्र,
अनुज शर्मा,
जामुना नगर कॉलोनी,
बिहारी रोड,
मेरठ।

Rate this post
अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment