महानगरों में महिलाओं की सुरक्षा के विषय में समाचार पत्र के संपादक को पत्र लिखिए।

सेवा में,
संपादक महोदय,
जनसत्ता कार्यालय,
नई दिल्ली।

विषय – महानगरों में महिलाओं की सुरक्षा के विषय में संपादक को पत्र।

माननीय संपादक महोदय जी,
सविनय निवेदन इस प्रकार है कि मैं अतुल त्रिपाठी दिल्ली के अक्षय बिहार का रहने वाला हूं व पेशे से एक वकील हूं। मैं महानगरों में महिलाओं की सुरक्षा के महत्वपूर्ण विषय को सरकार तथा प्रशासनिक अधिकारियों तक पहुंचाने के लिए आपके प्रतिष्ठित समाचार पत्र की सहायता लेना चाहता हूं।


मान्यवर, प्रतिदिन समाचार पत्रों में महिला अपराधों से संबंधित कई खबरें पढ़ने को मिल रही हैं। जिसमें महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार करना, महिलाओं के आभूषण छीनना, महिलाओं पर घरेलू हिंसा, अनेक पाबंदियां लगाना साथ ही महिलाओं का शोषण करना इत्यादि।‌ इससे यह स्पष्ट होता है कि समाज में महिलाओं की सुरक्षा का स्तर दिन प्रतिदिन गिरता जा रहा है। जिसकी जिम्मेदार कानून प्रशासनिक व्यवस्था है।


मेरे मुताबिक, अब यह समय नहीं रहा की महिलाओं को कमजोर बनाया जाए। समाज के उत्थान में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इसीलिए महिलाओं की सुरक्षा प्रशासन के लिए सर्वोच्च विषय होना चाहिए। साथ ही प्रशासन के उच्च वर्ग के अधिकारियों को महिलाओं की सुरक्षा हेतु कड़े कानून बनाने चाहिए। महिला अपराध हेतु बनाए गए कानूनों को उचित रूप से लागू करना चाहिए। ‌ इनके दोषियों के प्रति सख्त कार्यवाही तथा दंड का प्रबंध शुरू होना चाहिए। मेरा सरकार से अनुरोध है कि वह इस विषय में शीघ्र ही उचित निर्णय लेने का प्रयास करें।


अतः संपादक महोदय से मेरा निवेदन है कि आप उपरोक्त विषय को अपने समाचार पत्र में उचित स्थान देकर प्रकाशित करने की कृपा करें। यह प्रयास समाज की महिलाओं के हित में है।
सधन्यवाद।

भवदीय,
अतुल त्रिपाठी,
जनरल एडवोकेट,
अक्षय बिहार,
नई दिल्ली।
दिनांक…….

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment