अपने विश्वविद्यालय के प्रधानाचार्य को चरित्र प्रमाण-पत्र लेने के लिए आवेदन-पत्र लिखिए

सेवा में,
आदरणीय प्रधानाचार्य जी,
इलाहाबाद विश्वविद्यालय
इलाहाबाद,उत्तर प्रदेश।

विषय- चरित्र प्रमाण पत्र प्राप्त करने हेतु पत्र

महोदय,
सादर विन्रम निवेदन इस प्रकार है कि मैंने इस वर्ष सत्र 2020-21 में आपके विश्वविद्यालय से बी.ए स्नातक की परीक्षा प्रथम श्रेणी 78.2% से उत्तीर्ण की है।
इसके अतिरिक्त मैं आपके विश्वविद्यालय में अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे – गायन, वादन, वंदना स्तुति इत्यादि में बढ़ चढ़कर प्रतिभाग करती आयी हूं। खेलकूद, सामान्य ज्ञान प्रशनोत्तरी संबंधी प्रतियोगिता व अन्य विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं में भी मैंने अपनी योग्यता का कुशल प्रदर्शन किया है। व आपको सदैव उत्तम परिणाम प्रदान किया। विश्वविद्यालय के शिक्षकों के साथ भी मेरा व्यवहार सदैव उचित रहा हैं। तथा विश्वविद्यालय के छात्र- छात्राओं के साथ भी मेरा व्यवहार सामान्य रहा।

महोदय, स्नातक के पश्चात् अब परास्नातक की शिक्षा के लिए मैं दिल्ली विश्वविद्यालय में एम.ए. परास्नातक में प्रवेश कराना चाहती हूं। प्रवेश हेतु परीक्षा परिणाम पत्र के साथ मेरे चरित्र प्रमाण पत्र को भी संलग्न करना आवश्यक है।

अतः मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि कृपया मेरे व्यवहार, शैक्षिक गतिविधियों, सांस्कृतिक गतिविधियों व अन्य प्रतियोगिता संबंधी गतिविधियों का उचित उल्लेख करते हुए आप मुझे चरित्र प्रमाण पत्र देने की कृपा करे।
मैं आपकी सदैव आभारी रहूंगी।
सधन्यवाद।

आपकी आज्ञाकारी शिष्या
नाम – संजना शर्मा
कक्षा – बी. ए (तृतीय वर्ष)
दिनांक……

Rate this post
अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment